ब्रेकिंग न्यूज़:-लोकसभा में पास हुआ GST बिल, आप पर पड़ेगा इसका असर ! जानिए इसके बारे में

1516

कल सात घंटे चली लंबी बहस के बाद लोकसभा में जीएसटी बिल पास हो गया। जीएसटी बिल से देश अप्रत्यक्ष कर की दिशा में एक नए युग की दहलीज पर खड़ा है। जीएसटी बिल के लोकसभा में पास होने के बाद पीएम मोदी ने बधाई देते हुए कहा कि जीएसटी बिल पास होने पर देशवासियों को बधाई देता हूँ

आपको बता दें! अभी जीएसटी से जुड़े चारों बिल से पास हो गए हैं। अब इस बिल को राज्यसभा में पास कराना सरकार के लिए चुनौती है। राज्यसभा में पास हो जाने के बाद जुलाई से लागू हो जाने का रास्ता साफ हो जाएगा। सरकार की योजना देश में आगामी एक जुलाई से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली लागू करने की है। इससे देश में बड़ा बदलाव आएगा और पूरा भारत एक समान बाजार में बदल जाएगा। राज्यों के बीच कर का अंतर खत्म होगा।और सभी लोगो को एक सामान फायदा होगा

क्या है GST:-

गुड्स एंड सर्विस टेक्स (जीएसटी)एक प्रत्यश कर यानि इंडायरैक्ट टेक्स है। जिएसटी के तहत वस्तुओ और सेवाओ पर सामान टेक्स लगाया जाता है। जहाँ जीएसटी लागु नही होती। वहां वस्तुओ और सेवाओ पर अलग अलग प्रकार का टेक्स लगाये जाते है। आपको बता दें अगर सरकार जीएसटी को 2016 में लागु कर देती तो हर सामान पर हर सेवा पर सिर्फ एक टेक्स लगता। यानी एक्साइज, वेट,और सर्वीस टेक्स जैसे करो की जगह सिर्फ एक ही टेक्स लगता।

अब जीएसटी  निजी एवं सरकारी दफ्तरों की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता आएगी और इससे कर चोरी में भी काफी कमी आएगी। इसके लागू होने के बाद अधिकतर वस्तुओं एवं सेवाओं पर सिर्फ एक टैक्स लगेगा। यानी वैट, उत्पाद शुल्क और सर्विस टैक्स की जगह एक ही टैक्स, जीएसटी लगेगा। अब इस बात का आकलन करते हैं कि इससे समाज के विभिन्न वर्गों पर क्या असर पड़ेगा?

महिलाओ को होगा फायदा:-

यह लागू होने से घरेलू महिलाओं का जीवन सुखमय होने वाला है क्योंकि उनके दैनिक जीवन में काम आने वाली अधिकतर वस्तुओं पर या तो इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। उनके रोज के उपयोग के आटा, दाल, चावल, नमक, तेल आदि पर कोई टैक्स नहीं लगता है। कुछ प्रोसेस्ड चीजों पर कर लगता भी है तो वह मामूली है। देखा जाए तो जीएसटी के लागू होने से परिवहन व्यय घटेगा और इससे गृहणियों के दैनिक उपयोग की चीजें सस्ती होंगी।

किसानो को होगा फायदा:-

जीएसटी लागू होने से किसानो को काफी फायदा होगा, क्योंकि जीएसटी से परिवहन लागत घटेगी। परिवहन लागत घटने से जहां एक ओर खेती-बाड़ी में काम आने वाले खाद-बीज एवं अन्य सामानों की लागत घटेगी, वहीं उपज को स्थानीय बाजार में बेचने कीमें कोई बाध्य नहीं रहेगी। सस्ते ढुलाई खर्च का लाभ उठा कर वहां अपनी उपज बेचेंगे, जहां उपज की बेहतर कीमत मिलेगी। हालांकि पेट्रोलियम पदार्थों के जीएसटी के दायरे से बाहर रहने की वजह से उर्वरकों के सस्ता होने की संभावना नहीं है क्योंकि रासायनिक उर्वरक बनाने में पेट्रोलियम पदार्थों का इनपुट के रूप में उपयोग होता है। खेती-बाड़ी में काम आने वाले ट्रैक्टर और अन्य तरह की मशीनरी के सस्ता होने की संभावना है।

किराना स्टोर वालों होगा असर:-

किराना स्टोर वालों को जीएसटी लागू होने से काफी फायदा होगा। जीएसटी लागू होने से एफएमसीजी क्षेत्र को फायदा होगा, इसलिए माना जा रहा है कि एफएमसीजी वस्तुओं की कीमतें घटेंगी। जब वस्तुओं की कीमतें घटेंगी तो उनकी बिक्री बढ़ेगी। पूरा देश एक बाजार हो जाने से लोग अपने पड़ोस के किराना स्टोर से ही सामान खरीदना पसंद करेंगे,आपको फर बहार जा कर सस्ता सामान खोजने की जरूरत नही पड़ेगी!