अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में महिला रिपोर्टर से मुस्लिम लडको ने बदसलूकी

226

आपको बता दें की इंडिया टुडे टीवी की रिपोर्टर इलमा हसन के साथ अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में वहां के स्टूडेंट ने बदसलूकी की । दरअसल इलमा हसन ट्रिपल तलाक़ पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर मुस्लिम छात्राओं की प्रतिक्रिया जानने पहुंची थी! लेकिन उन्होंने जब कुछ छात्राओं से सवाल पूछने शुरू किए! और जब एक छात्रा ने जवाब देना शुरू ही किया था! कि कुछ स्थानीय लड़के आकर इलमा के साथ बदतमीजी करने लगे! लड़कों ने इलमा से पीआरओ की परमिशन का लेटर मांगना शुरू कर दिया! वहां पर बकौल इलमा पहले दो तीन लड़के थे!

फिर देखते ही देखते ये संख्या पंद्रह बीस तक जा पहुंची।! निडर इलमा ने पहले किसी प्रकार अपना बचाव किया! फिर कुछ अन्य मीडिया कर्मियों ने इलमा को उस परिस्थिति से बाहर निकाला! चैनल को ये घटना बताते हुए इलमा ने जिक्र किया! कि पीआरओ को उन्होंने फोन किया था! लेकिन उनका फोन नहीं उठाया गया! हैरान करने वाली बात ये है! कि तीन तलाक़ मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है! देश की मुस्लिम महिलाओं में एक ओर जहां खुशी की लहर है! वहीं कुछ कट्टरपंथी लोग इसका विरोध भी कर रहे हैं! वो कोर्ट के फैले को मानने को तेयार नही है!

विरोध इस बात का है कि सरकार भाजपा की है! और मामला मजहब का है!  इनका मानना है कि इस्लामिक नियमों से कोई छेड़छाड़ ना की जाये! ये विरोध कुछ दकियानूसी सोच के लोग ही कर रहे हैं! बाकी प्रगतिशील सोच का मुसलमान हो या हिन्दू सभी ने माननीय उच्चतम न्यायालय के इस फैसले का सम्मान किया किया है!इस घटना के बाद से एक बात तो स्पष्ट हो गई है! कि सरकार को पत्रकारों के साथ बढ़ती बदसलूकी की घटनाओं के प्रति अधिक सतर्कता बरतने की जरूरत है! क्युकी पत्रकार देश का चोथा स्तम्भ माना जाता है!पत्रकार संघों को इसके प्रति गंभीरता पूर्वक विचार भी करना चाहिए! ताकि ऐसी बदसलूकी न हो सके!

देखें विडियो:-