राजीव भाई की मृत्यु? का सबसे बढ़ा खुलासा !! और जानिए आखिर कौन है ये SK Garg

145

दोस्तों जो बात हम आपको बताने और दिखाने जा रहे है! उससे देख कर आपको बहुत हैरानी होगी! लेकिन सचाई को सामने लाना हमारा काम है! मित्रो S.K Garg पतंजलि योगपीठ के ट्रस्टी है! पतंजलि योगपीठ मे इन्होने कई करोड़ रूपये लगा रखे है! और ये आस्था चैनल के डाइरेक्टर भी है! इनकी एक निजी कंपनी भी है! जिसका नाम है Eldeco housing & industries ltd ये Eldeco कंपनी करोड़ो रूपये के फ्लैट बनाकर बेचती है! SK garg की ये कंपनीShare Market मे भी रेजिस्टर है!

अब आते है मूल विषय पर ! भारत के स्वाभिमान को जागृत करने और 2014 मे एक नया राजनीतिक विकल्प देने के लिए राजीव भाई ने बाबा रामदेव के साथ मिलकर भारत स्वाभिमान ट्रस्ट की स्थापना की! बाबा के मंच पर राजीव भाई के राष्ट्रप्रेम के आग उगलते व्याख्यानों का दौर शुरू हुआ! जिसने पूरे देश मे हरकंप मचा दिया! और परिणाम ये है हुआ मात्र डेढ़ वर्ष के भीतर 3 लाख लोग 1100 रु प्रति व्यक्ति आजीवन सदस्यता फीस देकर भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के साथ जुड़ गये!

इनके अतिरिक्त अन्य लोगो ने भी राजीव भाई से प्रभावित होकर राष्ट्रहित के लिए बहुत धन दिया! राजीव भाई की वाणी का तेज इतने लोगो को भारत स्वाभिमान ट्रस्ट का खींच लाया कि एक अनुमान के अनुसार उन दिनो भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के पास 110 करोड़ की राशि एकत्रित हो गई! और लाखो सदस्य हो गये! राजीव भाई के औडियो -विडियो करवाने बाद शायद बाबा के लिए राजीव भाई की कोई उपयोगिता नहीं बची! राजीव भाई ने जब 110 करोड़ रु राष्ट्रहित मे खर्च करने का बाबा पर दबाव बनाया तो उस पैसे का कोई हिसाब नहीं दिया गया!

आज भी ये प्रश्न ऐसे ही बना! कि आखिर भारत स्वाभिमान ट्रस्ट ने राजीव भाई को मंच पर लाकर उनके व्याख्यान करवा कर जो 110 करोड़ रु एकत्रित किए वो कहाँ गये ??

और जैसा की आप जानते है! उसके बाद राजीव भाई की मृत्यु ???? 30 नवंबर 2010 को हो गई! आश्चर्य कि बात ये है! उसके अगले ही वर्ष पतंजलि योगपीठ के ट्रस्टी SK garg की कंपनी को इंग्लैंड की संसद मे सम्मानित किया जाता है! साथ ही और भी ज्यादा आश्चर्य की बात ये है! इस SK garg की इस कंपनी को इससे पूर्व कभी भी विदेश मे सम्मानित नहीं किया गया! यह बात भी आप सब अच्छे से जानते है! मित्रो ये गोरी चमड़ी वाले भारत पर 250 वर्ष राज करने वाले किसी को बिना बात के आवार्ड नहीं देते! राजीव भाई की मृत्यु ? के कुछ महीनों बाद ही पतंजलि योगपीठ के ट्रस्टी की कंपनी को छोटी-मोटी जगह पर नहीं इंग्लैंड की संसद मे सम्मानित किया जाना! किस बात की और संकेत आप सब अनुमान लगा सकते है!

आप सब जानते है! विदेशी ताकतों के लिए राजीव भाई कितना बड़ा खतरा थे! अपने व्याख्यानों मे राजीव भाई ने WTO ,IMF ,England AMERICA अँग्रेजी कानून फर्जी आजादी विदेशी कंपनिया गौ हत्यारे सबको अच्छे से नंगा किया था! उनकी पोल खोली थी! आज भी internet के माध्यम से उनके व्याख्यान सबको जागृत कर रहें है!

राजीव भाई को वास्तव मे जानने वालों का सबका एकमत है! की उनकी मृत्यु स्वाभाविक नहीं हो सकती! उनकी मृत्यु के पीछे एक गहरी साजिश की बू आती है! क्योंकि उनका पोस्टमार्टम भी नहीं किया गया था! अंतिम समय मे उनका चेहरा गहरे नीले काले रंग का था! आस्था चैनल पर उनके अंतिम विडियो मे उनके चेहरे पर तेज रोशनी डालकर प्रसारण दिखाया जा रहा था!और अंत राजीव भाई की मृत्यु? के कुछ महीनों बाद ही पतंजलि योगपीठ के ट्रस्टी की कंपनी को कहीं और से नहीं बल्कि इंग्लैंड जैसे देश की संसद मे सम्मानित किया जाना अपने आप मे बहुत से सवाल खड़े करता है!

ये रहा सबूत । SK Garg की कंपनी ELDECO की रिपोर्ट मे लाल निशान वाला कालम पढ़ें।

ह्त्या से जुड़ा ये विडियो पूरा देखें