जो आज तक नही हुआ, अब वो हो राहा है मोदी सरकार में

20522

आज जो तो रहा है, उससे देख कर लग रहा है! यह बहुत पहले हो जाना चाहिए था! आजतक जो नहीं हुआ मोदी राज में हो रहा है! अब मुझे ये बोलने में कोई शर्म नहीं है!  कि हाँ सच में मेरा देश सच में मेरा देश बदल रहा है! और आपको बता दे की इतनी सरकार आई और चली गई! लेकिन यह पहली ऐसी सरकार है! जिसने पहली बार दिखाई हिम्मत- हज सब्सिडी में की भारी कटौती, तथाकथित सेक्युलर बुद्धिजीवियों ने खोल यह मोर्चा!

हमारे टेक्स के पैसे का इस्तमाल इन मुस्लिम समुदाय के लोगों की यात्राओं के खर्चे के लिए होता आया है! सालों से लेकिन अब मोदी सरकार ने हाहाकारी कदम उठाते हुए हज सब्सिडी में भारी कमी कर दी है! इस खबर के आने के बाद से ही सरकार के खिलाफ मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मोर्चा खोल दिया है!

हम आपको बताना चाहते है! की हजयात्रा महंगी होने! और सब्सिडी की रकम में सीधे तौर पर 24 हजार रुपए की कटौती करने के खिलाफ हज सेवी संस्थाओं, हज यात्रियों और आम मुसलमानों मोर्चा खोल दिया है! लेकिन हम आम भारतीय मोदी सरकार के इस बड़े फैसले का दिल से स्वागत करते हैं! की उन्होंने ऐसा कदम उठाया है!

लेकिन देश के लोगो का मानना है की यह फैसला बहुत पहले ले लेना चाहिए था! आगामी सोमवार को शहर की सभी हज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि! हज यात्री उनके परिजन और शहर के मोअज्जिज लोग हज कमेटी के इस फैसले के खिलाफ इकट्ठे हुए! और हज हाउस में हज कमेटी के अधिशाषी अधिकारी को ज्ञापन देकर विरोध जताया! अब पुरे भारत से एक मांग उठ रही है, कि हज सब्सिडी को पूरी तरह से खतम किया जाया!

सब्सिडी आज नहीं तो कल खत्म जरूर होगी, और ये कदम भी मोदी सरकार ही उठाएगी! बाकि जिस तरह से मुस्लिम समुदाय ने विरोध करना शुरू कर दिया है! उसे देखते हुए लग रहा है! आगे आने वाले दिनों में इस मुद्दे पर राजनीती भी जरूर देखने को मिल सकती है!