अकबरुद्दीन ओवैसी ने फिर उगला जहर , मोदी के लिए किया अभद्र भाषा का इस्तेमाल !!

1126

हेदराबाद के रहने वालें मुस्लिम नेता अकबरुद्दीन ओवैसी को हिंदुस्तान शायद ही कोई इन्सान होगा! जो नही जनता होगा! अपने भड़काऊ भाषण से सुर्खियों में बने रहने वाले कबरुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है! पहले भी इन के द्वारा ऐसे भाषण दे कर हिन्दुओ के खिलाफ मुस्लिम समुदाय के लोगो को भड़काया है! इसी वजय से हिन्दू और मुस्लिम लोगो की जम नही पाती! इस बार फिर वही बात को दोहराया गया है! इस बार अकबरुद्दीन ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए कहा! कि संसद भवन में मुस्लिमों की बर्बादी के कानून बनते हैं!

अकबरुद्दीन ओवैसी ने कहा! ऐ विश्व हिन्दू परिषद वालों, ऐ बजरंग दल वालों! ऐ नरेंद्र मोदी सुन ले ये मुल्क तेरे बाप की जागीर नहीं है! जितना ये मुल्क तेरा है! उतना ही ये मुल्क मेरा भी है! अगर एक हिन्दू माथे पर तिलक लगा कर घूम सकता है! तो मैं एक मुसलमान होकर अपने सिर पर टोपी पहन कर दाढ़ी भी रख सकता हूं!

अकबरुद्दीन ओवैसी ने आगे कहा! मेरे प्यारे मुसलमानों समझो, मुल्क किधर जा रहा है! अगर आज भी हम एक नहीं होंगे तो कैसे होगा! हम बार बार कहते रहे इत्तेहाद (गठबंधन) इत्तेहाद, इत्तेहाद क्यों कहते हैं! इसलिए कहते हैं क्योंकि मुसलमानों की तबाही और बर्बादी के कानून, बाजारों चौराहो या मैदानों में नहीं बनते! ये संसद या असेंबली में बनते हैं!अरे अगर मुसलमान एक हो जाएं तो मैं जानता हूं! कि किसी की मदद किसी के करम की जरूरत नहीं है! हमारा बड़ा भाई खुद अपने भाइयों के वोट से 50 लोकसभा सीटें जीत सकता है!ओवैसी के बयान पर हरियाणा के मंत्री अनिज विज ने कहा! ओवैसी के हिन्दू-मस्लिम के नाम पर बांटने के खेल का नतीजा नहीं पता है! उन्हें सभी को समरसता के साथ रहने देना चाहिए!

देखें यह विडियो:-